ये है चोरों से सावधान करने वाली “नकटी माता” Nakti Mata / Nakchi Mata Temple Jai Bhawanipura Jaipur

Nakti Mata / Nakchi Mata Jai Bhawanipura Jaipur जयपुर से लगभग 22 कि.मी. पश्चिम में अजमेर रोड़ पर भांकरोटा से एक सड़क उत्तर दिशा में मुकुन्दपुरा को जाती है । इस सड़क पर निमेड़ा से लगभग 1 कि.मी. पर जयभवानीपुरा गाँव है जहाँ नकटीमाता का प्राचीन मन्दिर अवस्थित है । Nakti Mata / Nakchi Mata Temple Jai Bhawanipura … Read more ये है चोरों से सावधान करने वाली “नकटी माता” Nakti Mata / Nakchi Mata Temple Jai Bhawanipura Jaipur

भुवाल माता मंदिर: चमत्कार, दर्शन व इतिहास

Bhuwal Mata Temple Merta City : Bhuwal Mata Darshan Video कृपया Video पर दिखने वाले Youtube के Icon पर Click करें और हमारे Youtube Channel पर जाकर Subscribe करें।  नागौर जिले में मेड़ता से लगभग 20-22 कि.मी. दक्षिण में स्थित भुवाल एक गाँव है । यहाँ पर विक्रम संवत् की 21वीं शताब्दी के लगभग निर्मित … Read more भुवाल माता मंदिर: चमत्कार, दर्शन व इतिहास

आसोप स्थित माहेश्वरी समाज की गायल माता और खत्री/अरोड़ा समाज की छाबला माता का मंदिर | Gayal Mata Temple Asop, Jodhpur

Gayal Mata Temple Asop :  गायल माता का मंदिर जोधपुर जिले के आसोप में है । नागौर तथा जोधपुर से आसोप जाया जा सकता है। इस मंदिर में प्रतिदिन भक्तों का तांता लगा रहता है। जोधपुर व आसपास के क्षेत्रों में गायल माता के प्रति विशेष आस्था रखी जाती है। यहाँ यात्रियों के रहने व … Read more आसोप स्थित माहेश्वरी समाज की गायल माता और खत्री/अरोड़ा समाज की छाबला माता का मंदिर | Gayal Mata Temple Asop, Jodhpur

माता सती का शीश – सुन्धामाता “Sundha Mata-Jalore”

Sundha Mata Temple History in Hindi : सुन्धामाता का प्राचीन और प्रसिद्ध मन्दिर जालौर जिले की भीनमाल तहसील में जसवंतपुरा से 12 कि.मी. दर दंतालावास गाँव के समीप लगभग 1220 मीटर की ऊँचाई का एक विशाल पर्वत शिखर, जो की सुन्धा पर्वत कहलाता है, के पर्वतांचल में एक प्राचीन गुफा के भीतर स्थित है । पुराणों … Read more माता सती का शीश – सुन्धामाता “Sundha Mata-Jalore”

चमत्कारी जोगन- जोगणियामाता “Joganiya Mata”

चित्तौड़गढ़ से  लगभग 85 कि.मी.दूर राजस्थान और मध्यप्रेदश राज्यों की सीमा से लगते ऊपरमाल पठार के दक्षिणी छोर पर जोगणियामाता का प्रसिद्ध मन्दिर स्थित है । ज्ञात इतिहास के अनुसार इस मन्दिर का निर्माण आठवीं शताब्दी ई. के लगभग हुआ । लोकमान्यता है कि पहले यहाँ अन्नपूर्णा देवी का मन्दिर था। मन्दिर से 1 कि.मी. पर … Read more चमत्कारी जोगन- जोगणियामाता “Joganiya Mata”

Jai Ambe Jai Jai Durge जय अम्बे जय जय दुर्गे

jai-ambe-jai-jai-durge

Devi Bhajan Lyrics: जय अम्बे जय जय दुर्गे जय अम्बे जय जय दुर्गे दयामयी कल्याण करो … आजाओ माँ आजाओ आकर दरस दिखा जाओ … जय अम्बे … कब के द्वार तिहारे ठाड़े मैया मेरी मुझ पर कृपा करो। जय अम्बे … तेरे दरस के प्यासे नैना दरस हमें दिखला जाओ। जय अम्बे … Jai Ambe Jai Jai Durge Jai Ambe Jai Jai Durge Dayamayi … Read more Jai Ambe Jai Jai Durge जय अम्बे जय जय दुर्गे

This site is protected by wp-copyrightpro.com