नीमाज की मगरमण्डीमाता | Magarmandi / Makarmandi Mata Nimaj Pali

  नीमाज (Nimaj) पाली जिले का एक प्रमुख कस्बा है । निमाज कस्बे से दो-ढाई किलोमीटर दूर पाली व अजमेर जिले की सरहद के समीप नवीं-दसवीं शताब्दी के पूर्व का ऐतिहासिक मगरमण्डीमाता (Magarmandi Mata) का एक प्राचीन और भव्य मन्दिर स्थित है। यहाँ इनकी बहुत लोकमान्यता है। ज्ञात इतिहास के अनुसार नीमाज रियासतकाल में ऊदावत … Read more नीमाज की मगरमण्डीमाता | Magarmandi / Makarmandi Mata Nimaj Pali

Shivratri ki Aarti Lyrics Hindi English

आरती श्री शिवरात्रि की (हिन्दी) आ गयी महाशिवरात्रि पधारो शंकर जी हो पधारो शंकर जी आरती उतारे पार उतारो शंकर जी हो उतरो शंकर जी तुम नयन नयन मे हो, मन धाम तेरा हे नीलकंठ है कंठ, कंठ मे नाम तेरा हो देवो के देव, जगत मे प्यारे शंकर जी तुम राज महल हो, तुम्ही … Read more Shivratri ki Aarti Lyrics Hindi English

Achyutam Keshavam Bhajan Lyrics Hindi English

Achyutam Keshavam Krishna Damodaram Rama naraynam Janaki vallabham Kaun kehta hai Bhagvan aate nahi Tum Meera ke jaise bulate nahi Achyutam Keshavam Krishna Damodaram Rama naraynam Janakivallabham Kaun kehta hai Bhagvan khaate nahi Ber Shabri ke jaise khilate nahi Achyutam Keshavam Krishna Damodaram Rama naraynam Janaki vallabham Kaun kehta hai Bhagvan Sote nahi Maa Yashoda … Read more Achyutam Keshavam Bhajan Lyrics Hindi English

श्रीमहालक्ष्मीचरितमानस:सुन्दरकाण्ड | Shree Mahalakshmi Charit Manas

#Mahalakshmi #CharitManas #Sundarkand #Deepawali #Diwali #महालक्ष्मी (सर्वाधिकार सुरक्षित ) श्रीगणेशाय नमः श्रीमहालक्ष्मीर्विजयते  श्रीमहालक्ष्मीचरितमानस चतुर्थ सोपानश्री सुन्दरकाण्ड आर्ष स्तुति ऊर्णनाभाद्यथा तन्तुर्विस्फुलिंगा विभावसोः |तथा जगद्यदेतस्या निर्गतं तां नता वयम् ||यन्मायाशक्तिसंक्लृप्तं जगत्सर्वं चराचरम् |तां चितिं भुवनाधीशां स्मरामः करुणार्णवाम् ||यदज्ञानाद् भवोत्पत्तिर्यज्ज्ञानाद् भवनाशनम् |संविद्रूपां च तां देवीं स्मरामः सा प्रचोदयात् ||महालक्ष्म्यै च विद्महे सर्वशक्त्यै च धीमहि |तन्नो देवी प्रचोदयात् ||  मंगलाचरण श्लोक  या माता … Read more श्रीमहालक्ष्मीचरितमानस:सुन्दरकाण्ड | Shree Mahalakshmi Charit Manas

श्री राधाकृष्ण की आरती

Radha Krishna Aarti : राधा कृष्ण आरती in Hindi ॐ जय श्री राधा जय श्री कृष्ण,!! श्री राधा कृष्णाय नमः !! !! घूम घुमारो घामर सोहे, जय श्री राधा,पट पीताम्बर मुनि मन मोहे जय श्री कृष्ण !! !! जुगल प्रेम रस झम-झम झमकै,श्री राधा कृष्णाय नमः !! !! राधा राधा कृष्ण कन्हैया जय श्री राधा,भव … Read more श्री राधाकृष्ण की आरती

अष्टलक्ष्मी स्तोत्रम्

Asht Lakshmi Stotram ।। अष्टलक्ष्मी स्तोत्रम् ।। in Hindi आदिलक्ष्मी सुमनसवन्दित सुन्दरि माधवि, चन्द्र सहोदरि हेममये ।।मुनिगणमण्डित मोक्षप्रदायिनि, मञ्जुळभाषिणि वेदनुते ।।पङ्कजवासिनि देवसुपूजित, सद्गुणवर्षिणि शान्तियुते ।।जयजय हे मधुसूदन कामिनि, आदिलक्ष्मि सदा पालय माम् ।। १ ।। धान्यलक्ष्मी अहिकलि कल्मषनाशिनि कामिनि, वैदिकरूपिणि वेदमये ।।क्षीरसमुद्भव मङ्गलरूपिणि, मन्त्रनिवासिनि मन्त्रनुते ।।मङ्गलदायिनि अम्बुजवासिनि, देवगणाश्रित पादयुते ।।जयजय हे मधुसूदन कामिनि, धान्यलक्ष्मि सदा … Read more अष्टलक्ष्मी स्तोत्रम्

सालासर बालाजी की आरती

  SALASAR BALAJI AARTI : सालासर बालाजी की आरती in Hindi जयति जय जय बजरंग बाला, कृपा कर सालासर वाला ॥चैत सुदी पूनम को जन्मे, अंजनी पवन खुशी मन में ।प्रकट भए सुर वानर तन में, विदित यश विक्रम त्रिभुवन में ।दूध पीवत स्तन मात के, नजर गई नभ ओर ।तब जननी की गोद से … Read more सालासर बालाजी की आरती

श्री परशुराम चालीसा

SHRI PARSHURAM CHALISA : श्री परशुराम चालीसा inHindi || दोहा || श्री गुरु चरण सरोज छवि, निज मन मन्दिर धारि।सुमरि गजानन शारदा, गहि आशिष त्रिपुरारि।।बुद्धिहीन जन जानिये, अवगुणों का भण्डार।बरणौं परशुराम सुयश, निज मति के अनुसार।। || चौपाई || जय प्रभु परशुराम सुख सागर, जय मुनीश गुण ज्ञान दिवाकर।भृगुकुल मुकुट बिकट रणधीरा, क्षत्रिय तेज मुख … Read more श्री परशुराम चालीसा

श्री लक्ष्मी मंत्र

LAKSHMI BEEJ MANTRA IN HINDI AND ENGLISH ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीभ्यो नमः॥Om Hreem Shreem Lakshmibhayo Namah॥ MAHALAKSHMI MANTRA IN HINDI AND ENGLISH ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नम:॥ Om Shreem Hreem Shreem Kamale Kamalalaye Praseed PraseedOm Shreem Hreem Shreem Mahalakshmaye Namah॥ LAKSHMI GAYATRI MANTRA IN HINDI AND … Read more श्री लक्ष्मी मंत्र

श्री अन्नपूर्णा माता की आरती

Shri Annapurna Devi Aarti : श्री अन्नपूर्णा माता की आरती in Hindi बारम्बार प्रणाम मैया बारम्बार प्रणामजो नहीं ध्यावे तुम्हे अम्बिके, कहा उसे विश्राम अन्नपूर्णा देवी नाम तिहारो, लेत होत सब कामप्रलय युगांतर और जन्मान्तर , कालांतर तक नाम सुर असुरों की रचना करती, कहाँ कृष्ण कहं रामचुमहि चरण चतुर चतुरानन, चारू चक्रधर श्याम चंद्रचूड़ … Read more श्री अन्नपूर्णा माता की आरती

This site is protected by wp-copyrightpro.com