सुन्धामाता की अद्भुत कथा व इतिहास – कुलदेवीकथामाहात्म्य

sundha-mata-image

‘कुलदेवीकथामाहात्म्य’ सुन्धापर्वत की सुन्धामाता इतिहास राजस्थान के जालौर जिले की भीनमाल तहसील में जसवन्तपुरा से 12 कि.मी. दूर, दांतलावास गाँव के पास सुन्धानामक पहाड़ है। इसे संस्कृतसाहित्य में सौगन्धिक पर्वत, सुगन्धाद्रि, सुगन्धगिरि आदि नामों से कहा गया है। सुन्धापर्वत के शिखर पर स्थित चामुण्डामाता को पर्वतशिखर के नाम से सुन्धामाता ही कहा जाता है। ऐतिहासिक … Read more सुन्धामाता की अद्भुत कथा व इतिहास – कुलदेवीकथामाहात्म्य

सच्चियाय माता की श्लोकमय कथा, इतिहास – कुलदेवीकथामाहात्म्य

sachiya-mata-katha-mahatmya

‘कुलदेवीकथामाहात्म्य’ ओसियां की सच्चियाय माता इतिहास …सच्चियाय माता संचाय, सच्चिका, सचवाय, सूच्याय, सचिया आदि अनेक नामों से प्रसिद्ध है। इनका शक्तिपीठ जोधपुर से लगभग 60 कि.मी. दूर ओसियाँ में स्थित है। ओसियाँ पुरातात्त्विक महत्त्व का एक प्राचीन नगर है। जैन साहित्य में ओसियाँ नगर का उपकेश, ऊकेश, ओएश आदि नामों से उल्लेख मिलता है। ओसियाँ … Read more सच्चियाय माता की श्लोकमय कथा, इतिहास – कुलदेवीकथामाहात्म्य

This site is protected by wp-copyrightpro.com