कामाख्या देवी शक्तिपीठ से जुड़े रोचक तथ्य

Mata Kamakhya Devi Shaktipeeth History in Hindi : कामाख्या शक्तिपीठ गुवाहाटी (असम) के पश्चिम में 8 कि.मी. दूर नीलांचल पर्वत पर है। 51 शक्तिपीठों में कामाख्या देवी शक्तिपीठ को सर्वोत्तम माना जाता है। कामाख्या देवी का यह प्रसिद्ध शक्तिपीठ असम में गुवाहाटी के पश्चिम में 8 किमी. दूर नीलांचल पर्वत पर स्थित है। माता सती … Read more कामाख्या देवी शक्तिपीठ से जुड़े रोचक तथ्य

चूड़ामणि देवी मंदिर- इस मदिर में चोरी करने पर ही पूरी होती है मनोकामना

Devi Chudamani Temple Uttarakhand History in Hindi : इस मन्दिर में चोरी करने पर ही  मनोकामना होती है पूरी  – Mission Kuldevi  में हम आपको कुलदेवियों सहित देवी माँ के विभिन्न धामों का दर्शन करवाते हैं। हमारे भारत में कई ऐसे अनोखे मन्दिर हैं जिनकी परम्पराएं और मान्यतायें अनोखी होती हैं। पिछले लेख में हमने आपको … Read more चूड़ामणि देवी मंदिर- इस मदिर में चोरी करने पर ही पूरी होती है मनोकामना

श्राई कोटि माता मंदिर- जहाँ पति-पत्नी नहीं कर सकते एक साथ मां के दर्शन

Sri Koti Mata Temple Himachal History in Hindi :भारतवर्ष में ऐसे कई मन्दिर हैं जो या तो अपने चमत्कारों के कारण प्रसिद्ध हैं या अपने रहस्यों के कारण। कई मन्दिर ऐसे भी हैं जो अपनी अनोखी परम्पराओं के कारण प्रसिद्ध हैं । ऐसा ही एक मन्दिर है जिसकी एक अनोखी परम्परा है। एक ऐसा मन्दिर जहाँ … Read more श्राई कोटि माता मंदिर- जहाँ पति-पत्नी नहीं कर सकते एक साथ मां के दर्शन

माता वैष्णो देवी की अमर कथा | Vaishno Devi ki Katha and My Bike Ride to Katra

Mata Vaishno devi story in Hindi : भगवान विष्णु की शक्ति वैष्णवी का प्रसिद्ध मन्दिर ‘वैष्णो देवी’ के नाम से उत्तर भारत के सर्वाधिक पूजनीय और पवित्र स्थलों में से एक है। ऊँचे पर्वत पर स्थित यह मन्दिर अपनी भव्यता व मनोहर सुंदरता के कारण भी प्रसिद्ध है। कटरा से लगभग 14 किलोमीटर की दूरी पर … Read more माता वैष्णो देवी की अमर कथा | Vaishno Devi ki Katha and My Bike Ride to Katra

‘मत्स्य माताजी’- जहां होती है व्हेल मछली की पूजा

Matsya Mata Whale Temple Story in Hindi : आपने भारतवर्ष में देवी-देवताओं के अनेकों मन्दिर देखे होंगे लेकिन आपने शायद ही कभी ऐसे मन्दिर के बारे में सुना होगा जहां व्हेल मछली की अस्थियों की पूजा की जाती है।  जी हाँ यह सच है, यह मन्दिर गुजरात में वलसाड तहसील के एक गाँव मगोद डूंगरी में … Read more ‘मत्स्य माताजी’- जहां होती है व्हेल मछली की पूजा

Navratri Katha | क्यों मनाई जाती है नवरात्रि

Navratri Story and Puja Vidhi in Hindi : नवरात्रि में देवी की आराधना का विशेष महत्त्व है।  नवरात्रि सुख व समृद्धि देती है तथा उपासना करने से जीव का कल्याण होता है। नवरात्रि क्यों मनाई जाती है इसके पीछे दो कथायें प्रचलित हैं। नवरात्रि की प्रथम कथा पहली कथा के अनुसार लंका युद्ध के समय … Read more Navratri Katha | क्यों मनाई जाती है नवरात्रि

यह है पहाड़ों पर स्थित देवी के 10 प्रसिद्ध मंदिर

10 Famous Devi Temples Situated On Hills:  इस लेख में हम आपको देवी के 10 ऐसे प्रसिद्ध मंदिरों के बारे में बता रहे हैं, जो पहाड़ों पर स्थित हैं। साथ ही आपको बतायेंगे उन मन्दिरों से जुड़ी खास बातें …. 1. कनक दुर्गा मंदिर, आंध्र प्रदेश (Kanaka durga temple, Vijayawada, Andhra pradesh) इस स्थान के … Read more यह है पहाड़ों पर स्थित देवी के 10 प्रसिद्ध मंदिर

झाला वंश का इतिहास, खांपें और कुलदेवी – शक्तिदेवी /आद माता

Jhala Kuldevi Aad Mata History in Hindi : झालावंश का प्राचीन नाम मकवाना था।  उनका मूल निवास कीर्तिगढ़ (क्रान्तिगढ़ ) था।  हरपाल मकवाना का  मूल निवास कीर्तिगढ़ था जहाँ  सुमरा लोगों से लड़ाई हो जाने के बाद वह गुजरात चला गया जहां के राजा कर्ण ने उसे पाटड़ी की जागीर सोंप दी। मरमर माता को मकवानों की कुलदेवी … Read more झाला वंश का इतिहास, खांपें और कुलदेवी – शक्तिदेवी /आद माता

श्री केलपूज माता देवी मंदिर किणसरिया

Kelpuj Mata Temple Kinsariya Nagaur : केलपूज माता मन्दिर नागौर जिले के किणसरिया ग्राम में है। यह कैवाय माता मन्दिर की पहाड़ी की तलहटी में स्थित है। किणसरिया गांव  तथा परबतसर के बीचोंबीच स्थित है। इसकी मकराना से दूरी 12 किमी. तथा परबतसर से दूरी 9 किमी. है। यह ललवाणी तथा खाबिया कुल की कुलदेवी … Read more श्री केलपूज माता देवी मंदिर किणसरिया

आसोप स्थित माहेश्वरी समाज की गायल माता और खत्री/अरोड़ा समाज की छाबला माता का मंदिर | Gayal Mata Temple Asop, Jodhpur

Gayal Mata Temple Asop :  गायल माता का मंदिर जोधपुर जिले के आसोप में है । नागौर तथा जोधपुर से आसोप जाया जा सकता है। इस मंदिर में प्रतिदिन भक्तों का तांता लगा रहता है। जोधपुर व आसपास के क्षेत्रों में गायल माता के प्रति विशेष आस्था रखी जाती है। यहाँ यात्रियों के रहने व … Read more आसोप स्थित माहेश्वरी समाज की गायल माता और खत्री/अरोड़ा समाज की छाबला माता का मंदिर | Gayal Mata Temple Asop, Jodhpur

This site is protected by wp-copyrightpro.com