Brihaspativar Vrat Katha in Hindi

BRIHASPATIVAR VRAT KATHA : बृहस्पतिवार व्रत कथा IN HINDI पूजा विधि बृहस्पतिवार को जो स्त्री-पुरुष व्रत करें उनको चाहिए कि वह दिन में एक ही समय भोजन करें क्योंकि बृहस्पतेश्वर भगवान का इस दिन पूजन होता है भोजन पीले चने की दाल आदि का करें परन्तु नमक नहीं खावें और पीले वस्त्र पहनें, पीले ही … Read more Brihaspativar Vrat Katha in Hindi

Shri Vaibhav Lakshmi Vrat Katha in Hindi

श्री वैभव लक्ष्मी व्रत  : SHRI VAIBHAV LAKSHMIVRAT IN HINDI वैभव लक्ष्मी व्रत करने का नियम :  VAIBHAV LAKSHMI VRAT RULES 1. यह व्रत सौभाग्यशाली स्त्रियां करें तो उनका अति उत्तम फल मिलता है, पर घर में यदि सौभाग्यशाली स्त्रियां न हों तो कोई भी स्त्री एवं कुमारिका भी यह व्रत कर सकती है। 2. स्त्री … Read more Shri Vaibhav Lakshmi Vrat Katha in Hindi

kokila vrat 2020: जानिए इस व्रत का महत्त्व, कथा, पूजा विधि व मुहूर्त

kokila vrat katha

कोकिला व्रत :-         हिन्दू धर्म में अनेक त्योंहार आते हैं। जिनमे से एक है कोकिला व्रत ()। यह व्रत आषाढ़ पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। कोकिला व्रत माँ पार्वती और भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है। यह व्रत ईश्वर के प्रति समर्पण व्यक्त करने का एक उचित साधन है। इस व्रत में … Read more kokila vrat 2020: जानिए इस व्रत का महत्त्व, कथा, पूजा विधि व मुहूर्त

जया पार्वती व्रत का महत्त्व, पूजा विधि, कथा, व मुहूर्त

jaya parvati vrat muhurt

Jaya Parvati Vrat Katha,Puja Vidhi: जया-पार्वती व्रत एक बहुत ही शुभ उपवास है जो कि लगातार पांच दिनों तक चलता है। आषाढ़ शुक्ल त्रयोदशी जो कि हर साल आती है। उस दिन जया पार्वती व्रत को विशेष व्रत के रूप में मनाया जाता है। इस व्रत को विजया-पार्वती व्रत के नाम से भी जाना जाता है। यह व्रत माँ … Read more जया पार्वती व्रत का महत्त्व, पूजा विधि, कथा, व मुहूर्त

योगिनी एकादशी व्रत विधि, कथा, महिमा व मुहूर्त

yogini-ekadashi

Yogini Ekadashi Vrat in Hindi: आषाढ़ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को योगिनी एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस एकादशी का हिन्‍दू धर्म में बड़ा ही महत्‍व है। इस दिन भगवान्  विष्‍णु की पूजा करने का विधान है।  भगवान विष्णु का आशीर्वाद पाने के लिए यह व्रत रखा जाता है। अतिउत्तम योगिनी एकादशी के दिन दान … Read more योगिनी एकादशी व्रत विधि, कथा, महिमा व मुहूर्त

वट पूर्णिमा व्रत विधि, कथा व महिमा | Vat Purnima | Vat Savitri Vrat Katha | Vat Amavasya

vat purnima

हिंदू धर्म में विवाहित स्त्रियां अपने पति की दीर्घायु के लिए कई प्रकार के व्रत रखती हैं, इन्‍हीं में से एक है वट सावित्री व्रत। जिसे वट पूर्णिमा/वट अमावस्या भी कहा जाता है। यह पर्व मिथिला और पश्चिमी भारतीय राज्यों गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा और उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में विवाहित महिलाओं द्वारा मनाया जाता … Read more वट पूर्णिमा व्रत विधि, कथा व महिमा | Vat Purnima | Vat Savitri Vrat Katha | Vat Amavasya

Akshaya Tritiya Shubh Muhurt Pujan Vidhi Katha

akshaya tritiya banner

Akshaya Tritiya Shubh Muhurt 2020: भारतवर्ष में सभी शुभ कार्य शुभ मुहूर्त में ही किये जाने की परम्परा है। इनमें वर्ष में साढ़े तीन मुहूर्त ऐसे भी आते हैं जो स्वयं सिद्ध शुभ मुहूर्त होते हैं यानि इन मुहूर्त में कोई भी शुभ कार्य बिना किसी दुविधा के सिद्ध किये जा सकते हैं ये साढ़े … Read more Akshaya Tritiya Shubh Muhurt Pujan Vidhi Katha

Sheetla Ashtami Puja Vidhi 2020 : शीतला माता पूजा विधि, कथा, आरती व चालीसा

sheetla-saptami-ashtami-puja-vidhi

sheetla saptami,ashtami 2020 :भारतवर्ष में शीतला सप्तमी,अष्टमी प्रमुख त्यौहारों में से एक है। इस दिन शीतला माता की पूजा की जाती है। यह पर्व मुख्य तौर पर राजस्थान, उत्तर प्रदेश और गुजरात में मनाया जाता है। इस दिन माता शीतला को बासी भोजन का भोग लगाया जाता है। शीतला अष्टमी को बासोड़ा (Basoda festival) के … Read more Sheetla Ashtami Puja Vidhi 2020 : शीतला माता पूजा विधि, कथा, आरती व चालीसा

शनि प्रदोष व्रत कथा, पूजा विधि, महत्त्व व मुहूर्त | Shani Pradosh Vrat Katha

shani-pradosh-vrat-katha

Shani Pradosh Vrat Katha in Hindi : प्रत्येक माह की दोनों पक्षों की त्रयोदशी के दिन संध्याकाल के समय को “प्रदोष” कहा जाता है और इस दिन शिवजी को प्रसन्न करने के लिए प्रदोष व्रत रखा जाता है।  शनि प्रदोष व्रत शनिवार को आता है। यह सभी प्रदोष व्रतों में सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। जो … Read more शनि प्रदोष व्रत कथा, पूजा विधि, महत्त्व व मुहूर्त | Shani Pradosh Vrat Katha

शुक्र प्रदोष (भृगु वारा) व्रत कथा, पूजा विधि, महत्त्व व मुहूर्त | Shukra Pradosh Vrat Katha

shukra-pradosh-vrat-katha

Shukra Pradosh Vrat Katha in Hindi : प्रत्येक माह की दोनों पक्षों की त्रयोदशी के दिन संध्याकाल के समय को “प्रदोष” कहा जाता है और इस दिन शिवजी को प्रसन्न करने के लिए प्रदोष व्रत रखा जाता है।जब प्रदोष शुक्रवार को पड़ता है तो उसे ”भृगु वारा प्रदोष व्रत” कहा जाता है। इस व्रत को करने … Read more शुक्र प्रदोष (भृगु वारा) व्रत कथा, पूजा विधि, महत्त्व व मुहूर्त | Shukra Pradosh Vrat Katha

This site is protected by wp-copyrightpro.com