You are here
Home > Saptmatrika

Vaishnavi Mata- The Power of Vishnu

Vaishno Devi- Vaishnavi Mata सप्त मातृका में से एक देवी वैष्णवी (Vaishnavi) भगवान विष्णु की शक्ति है। यह माता लक्ष्मी (Lakshmi) का ही अवतार है। वैष्णो देवी का ही नाम वैष्णवी है। इनका वाहन गरुड़ है। यह देवी शंख, चक्र, गदा, धनुष और बाण धारण करती है। भगवान विष्णु की तरह ही यह भी कई आभूषण…

Maheshwari- The Power of Maheshwar

Maheshwari Devi – The power of Maheswar सप्तमातृका में से एक माहेश्वरी माता महेश (शिव) की शक्ति है। माहेश्वरी देवी को शंकरी, रुद्राणी, रुद्री, शिवा, महेशी नाम से भी जाना जाता है जो शंकर, रूद्र शिव और महेश से सम्बद्ध हैं। गौर वर्ण की तथा त्रिनेत्री माहेश्वरी देवी अपने हाथों में त्रिशूल (trident), डमरू (drum),…

Indrani – The power of Indra

Indrani Mata सप्तमातृका में से एक इन्द्राणी स्वर्ग के देवराज इन्द्र देव की शक्ति (power) है। इन्द्राणी को ऐन्द्री (Aindri), महेन्द्री (Mahendri), शची (Shachi), शक्री (Shakri) तथा वज्री (Vajri) नाम से भी जाना जाता है।ऐरावत पर सवार इन्द्राणी को गहरे वर्ण (dark-skinned ) में दर्शाया जाता है।  यह क्रोध और ईर्ष्या की देवी है। यह एक असुर पुलोमन की पुत्री…

The Power of Brahma – Brahmani Mata

सप्तमातृका में से एक ब्रह्माणी अथवा ब्राह्मी माता सृष्टि रचयिता ब्रह्मा की शक्ति है। यह पीले रंग में दर्शायी जाती है। इनके चार सिर हैं। इनके चार भुजायें हैं। यह देवी कमण्डल, कमल पुष्प, माला तथा पुस्तक धारण करती है। इनका वाहन हंस है। ब्रह्माणी माता कई समाजों द्वारा कुलदेवी के रूप में पूजी जाती है।…

Chamunda Mata – fearsome aspect of Aadishakti

चामुण्डा माता को चामुंडी, चामुंडेश्वरी, चण्डिका तथा चर्चिका नाम से भी जाना जाता है। यह देवी का विकराल रूप है। चामुण्डा सप्तमातृकाओं तथा चौसठ योगिनीयों में से एक है। इनका नाम चण्ड तथा मुण्ड से मिलकर बना है। ये दोनों दैत्य थे जिनका देवी ने संहार किया था। यह देवी काली से जुड़ा हुआ रूप है। काली…

Top