Mansa Mata Temple, Devi ki Khol Amber Jaipur

Mansa Mata, Devi ki  Khol Amber Jaipur

जयपुर से आमेर वाली सड़क पर घाटी दरवाजे से आमेर (Amber) में प्रवेश करने पर दरवाजे से थोड़ी दूर बायीं ओर एक सड़क मंसा माता के मन्दिर जाती है। यह जयगढ़ के दक्षिणी छोर तथा विजयगढ़ी के नीचे स्थित है। इसे ” देवी की खोल” कहा जाता है।       देवी की प्रतिमा स्वयंभू उत्कीर्ण है, किसी के द्वारा तराशी या स्थापित की हुई नहीं है। मूर्ति के नेत्र, भौहें, ललाट, मुख आदि अपने आप ही मूर्ति में आभासित है। ललाट पर सर्प का फन भी दिखाई देता है। वास्तव में मंसा माता को सर्पों की देवी माना जाता है। देवी भागवत के 48 वें स्कन्ध में इसका वर्णन है। मंसा माता जगत्कारु ऋषि की पत्नी थी। जब यह ऋषि पुष्करारण्य गए तो उन्होंने इस स्थान पर पड़ाव किया था। वहीं मंसा माता का मन्दिर बना हुआ है।

Mansa Mata Temple Devi ki  Khol Amber Jaipur

मंसा माता के अन्य मन्दिर 

मंसा देवी का एक राजस्थान के अलवर जिले में सरिस्का अभयारण्य में भर्तृहरि की गुफा के पास स्थित है। समीप ही हनुमान जी का प्रसिद्ध मन्दिर है। मंसा माता का का एक मन्दिर हरिद्वार में शिवालिक पर्वत की चोटी पर स्थित है।

Kund in Backside of Mansa Mata Temple Devi ki  Khol Amber Jaipur

नोट:-   यदि आप मंसा माता को अपनी कुलदेवी के रूप में पूजते हैं तो कृपया Comment Box में अपना समाज व गोत्र लिखें।

10 thoughts on “Mansa Mata Temple, Devi ki Khol Amber Jaipur”

Leave a Reply

This site is protected by wp-copyrightpro.com