Gotra wise Kuldevi List of Rabari Tribe रैबारी समाज की कुलदेवियां

Gotra wise Kuldevi List of Rabari Tribe : रेबारी समाज की कुलदेवियां इस प्रकार हैं –



Kuldevi List of Rabari Tribe  रैबारी समाज के गोत्र एवं कुलदेवियां 

सं.कुलदेवीउपासक सामाजिक गोत्र (Gotra of Rabari Tribe)

1.

आईनाथ, स्वांगिया माता (Aai Mata, Swangiya Mata)आल (Aal)

2.

बायण माता (Bayan Mata)विपावत, भीम, गांगल, पेवाला, सांगावत

(Vipawat, Bhim, Gangal, Pewala, Sangawat)

3.

चामुण्डा माता (Chamunda Mata)उलवा, आंडु (Ulwa, Andu)

4.

बीसभुजा माता, बीसा माता (सांठिका गांव)

(Bisbhuja Mata / Bisa Mata)

बार (Bar)

5.

आशापुरा माता (नाडोल), (Ashapura Mata)

ममाय देवी (बागोरिया)  (Mamai Mata)

सेलाणा (Selana)

6.

ममाय माता (बागोरिया) (Mamai Mata)

साम्भड़, किरमटा, बाछावत, कालर, आजना

(Sambhar, Kirmata, Bachhawat, Kalar, Ajna)

7.

सच्चियाय माता (Sachiya Mata)देऊ, बिड़ा (Deu, Bida)

8.

गाजन देवी (Gajan Devi)पड़िहार (Parihar / Padihara)

9.

ब्राह्मणी माता (सालोड़ी) (Brahmani Mata)लुकाभीम, गधवा भीम (Lukabhim, Gadhwa, Bhim)

बागोरिया स्थित ममाय माता ब्राह्मणी है। सालोड़ी स्थित बायण माता ब्राह्मणी है।



Your contribution आपका योगदान  –

जिन कुलदेवियों व गोत्रों के नाम इस विवरण में नहीं हैं उन्हें शामिल करने हेतु नीचे दिए कमेण्ट बॉक्स में  विवरण आमन्त्रित है। (गोत्र : कुलदेवी का नाम )। इस Page पर कृपया इसी समाज से जुड़े विवरण लिखें। रैबारी समाज से सम्बन्धित अन्य विवरण अथवा अपना मौलिक लेख  Submit करने के लिए Submit Your Article पर Click करें।आपका लेख इस Blog पर प्रकाशित किया जायेगा । कृपया अपने समाज से जुड़े लेख इस Blog पर उपलब्ध करवाकर अपने समाज की जानकारियों अथवा इतिहास व कथा आदि का प्रसार करने में सहयोग प्रदान करें।

52 thoughts on “Gotra wise Kuldevi List of Rabari Tribe रैबारी समाज की कुलदेवियां”

  1. बहुत ही अच्छा प्रयास इसमें कुछ शुद्धीकरण की आवश्यकता है जेसे भीम गोत्र है इनकी कुल देवी ममता माता मेमाया माता है जो बागोरीया मैं मन्दिर है

    प्रतिक्रिया
  2. गोत्र : लोढा।
    नख : परमार राजपुत।
    कुलदेवी : हरसिध्धी?, अर्बुदा?, महाकाली?, सच्चियाय?, आइ?, ज्वाला?, जोध?, भरामणी?
    मो न ,
    9429760399
    विहान लीलाभाई देसाई(देवासी/रायका)
    गोत्र: लोढा

    प्रतिक्रिया

Leave a Comment

This site is protected by wp-copyrightpro.com