गुढाचंदरजी की घटवासन माता Ghatwasan Mata Temple Gudhachandar Ji

Ghatwasan Mata Temple Gudhachandar Ji : घटवासन माताजी का धाम राजस्थान के करौली जिले में करौली से लगभग 65 किलोमीटर उत्तर-पूर्व में  तथा दौसा से लगभग 54 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में स्थित है।  गुढ़ाचन्दरजी नामक स्थान पर विराजित यह धाम अत्यंत रमणीय है। सिन्दूर में लिप्त माँ घटवासन की प्रतिमा के दर्शन पाकर भक्त कृतार्थ होते हैं।

Ghatwasan Mata Temple Gudhachandar Ji
Ghatwasan Mata Temple Gudhachandar Ji

डॉ. रघुनाथ प्रसाद तिवारी ने अपनी पुस्तक ‘मीणा समाज की कुलदेवियाँ’ में घटवासन माता के बारे में इस प्रकार विवरण दिया है-

” धार्मिक साधनाओं में ‘घट’ का कई प्रकार से उपयोग होता है। सुबह कृत्यों में वरुण (जल तथा नीति के देवता) के अधिष्ठान के रूप में घट की स्थापना होती है। नवरात्र के दुर्गा पूजनारम्भ में घट की स्थापना कर  उसमें देवी को विराजमान किया जाता है। इसी कारण इसे घटवासन के नाम से सम्बोधित किया गया है। अतः घटवासन माता दुर्गा का रूप है जिसने असुरों का नाश किया था।

घटवासन माता का एक मंदिर गुढ़ा चन्द्राजी में है। मंदिर में दौसा,सिकंदरा,गीजगढ़ होते हुए भक्त माता के दर्शनार्थ गुढ़ा चन्द्राजी जा सकता है। चार भुजा धारी माता का स्वरूप है तथा माता सिंहारूढ़ है। मूर्ति स्थापना के सम्बन्ध में कोई निश्चित साल संवत् नहीं है, इसे सदियो पुराना मंदिर माना जाता है।

Ghatwasan Mata Mandir Video

घटवासन माता के रमणीय पावन धाम का यह वीडियो अवश्य देखें –

ऐसा बताया गया है कि चौहान शासक द्वारा माता को लगभग बीस बीघा जमीं भेंट की गई थी।

माता के मंदिर के चारों ओर जलाशय हैं तथा जाल व घोक के पेड़ बहुतायत में पाए जाते। माता का मंदिर हजारों वर्गफीट में निर्मित है उसकी ऊँचाई भी लगभग सौ फिट बताई जाती है। मंदिर का निर्माण मीणा समाज के महर गोत्रीय मीणाओं द्वारा कराया गया है तथा इसी गोत्र के मीणे माता की पूजा-अर्चना करते हैं।

मीणा समाज के महर गोत्र (Meena Samaj – Mahar Gotra Kuldevi) की यह कुलदेवी है। मीणा समाज के अतिरिक्त अन्य समाज के भक्तों द्वारा भी माता की श्रद्धापूर्वक पूजा-अर्चना की जाती है। माता के सात्विक भोग ही अर्पित किया जाता है। समय-समय पर मीणा समाज एवं अन्य समाज के व्यक्तियों द्वारा मंदिर का जीर्णोद्धार कराया जाता है।

मंदिर की व्यवस्था हेतु प्रबंध कमिटी का गठन किया गया है जो रजिस्टर्ड संस्था है।”

कृपया ध्यान दें –

यदि आप घटवासन माता को कुलदेवी के रूप में पूजते हैं तो कृपया Comment Box में अपना समाज व गोत्र की जानकारी अवश्य लिखें।

Ghatwasan Mata Temple Gudhachandar Ji, Karauli Map

10 thoughts on “गुढाचंदरजी की घटवासन माता Ghatwasan Mata Temple Gudhachandar Ji”

      • आपसे निवेदन है कि घट वासन मैया को कैसे पूजा जाता है,
        और मुंडन कैसे होता है,
        जो राजस्थान से मीणा मेहर गौत्र से हो वो मुझे जानकारी दे,
        में मध्यप्रदेश के सीहोर जिले की बुदनी तहसील के ग्राम जहानपुर से हूं।।
        आप सभी पर घट वासन देवी सदा सुखी रखे।।

        प्रतिक्रिया

Leave a Comment

This site is protected by wp-copyrightpro.com