हनुमान जी की आरती व चालीसा

हनुमान जी की आरती (Hanuman Ji Aarti) in Hindi आरती किजे हनुमान लला की | दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥जाके बल से गिरवर काँपे | रोग दोष जाके निकट ना झाँके ॥ अंजनी पुत्र महा बलदाई | संतन के प्रभु सदा सहाई ॥दे वीरा रघुनाथ पठाये | लंका जाये सिया सुधी लाये ॥ लंका … Read more हनुमान जी की आरती व चालीसा

आरती कुंज बिहारी की

कुंजबिहारी जी की आरती in Hindi आरती कुँज बिहारी की श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ॥ गले में वैजन्ती माला,बजावे मुरली मधुर बाला,श्रवण में कुण्डल झलकाला,नन्द के आनन्द नन्दलालागगन सम अंग कान्ति काली,राधिका चमक रही आली,लसन में ठाड़े वनमाली,भ्रमर सी अलक,कस्तूरी तिलक,चन्द्र सी झलकललित छवि श्यामा प्यारी कीश्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ॥ कनकमय मोर … Read more आरती कुंज बिहारी की

जगदीश जी की आरती

जगदीश जी की आरती in Hindi   ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरेभक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे ||जो ध्यावे फल पावे, दुख बिनसे मन का स्वामी दुख बिनसे मन का सुख सम्पति घर आवे, कष्ट मिटे तन का || ॐ जय जगदीश हरे ||   मात … Read more जगदीश जी की आरती

भैरव जी की आरती

भैरव जी की आरती (Bhairav Ji Ki Aarti) in Hindi जय भैरव देवा, प्रभु जय भैरव देवाजय काली और गौर देवी कृत सेवा || जय भैरव || तुम्ही पाप उद्धारक दुःख सिन्धु तारक भक्तो के सुख कारक भीषण वपु धारक || जय भैरव || वाहन श्वान विराजत कर त्रिशूल धारीमहिमा अमित तुम्हारी जय जय भयहारी || … Read more भैरव जी की आरती

अम्बे जी की आरती

श्री अम्बे माँ की आरती in Hindi जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी । तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी ॥ जय अम्बे गौरी ॥ मांग सिंदूर विराजत, टीको मृगमद को । उज्जवल से दो‌उ नैना, चन्द्रबदन नीको ॥ जय अम्बे गौरी ॥ कनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजै । रक्त पुष्प गलमाला, कण्ठन पर … Read more अम्बे जी की आरती

This site is protected by wp-copyrightpro.com