You are here
Home > Kuldevi Temples > झमकार माता / झंकार देवी मंदिर थराद

झमकार माता / झंकार देवी मंदिर थराद

Jhankar / jamkar Devi Temple Tharad Gujarat : श्री झंकार देवी / झमकार देवी पांच सौ बोहरों की कुलदेवी मानी जाती है। पांच सौ बोहरा को थराद के बोहरा भी कहते हैं। झंकार देवी का मंदिर गुजरात के थराद नगर में स्थित है।
jhankar-devi-tharad
Jhankar Devi Tharad

वि.सं. 504 में आचार्य श्री धर्मघोष सूरी ने भीनमाल के राजा पेंथडशाह को प्रतिबोधित कर जैन श्रावक बनाया। उन्होंने पांच सौ बोहरा गोत्र की स्थापना की। महाजनों के 74 1/2 विख्यात शाह हुए। ये शाह पोरवाल, ओसवाल श्रीमाल आदि महाजनों में हुए। पेथडशाह ओसवाल जाति के बोहरा थे। इन्हीं से पांच सौ बोहरा गोत्रों का उदय हुआ। पेथडशाह ने आचार्य श्री से कुलदेवी की कामना की। आचार्य श्री ने शांतिनाथ भगवान की अधिष्ठात्री देवी श्री निर्वाणी देवी की उपासना की। निर्वाणी देवी प्रकट हुई तब अम्बाई श्री ने पांच सौ बोहरा की रक्षा का दायित्व सौंपा जिसे देवी माँ ने स्वीकार किया। देवी रिमझिम करती प्रकट हुई थी इसलिए यह देवी झंकार देवी के नाम से प्रसिद्ध हुई।

पेथडशाह ने स्वर्ण निर्मित सिंहासन पर स्वर्ण से बनी आदमकद प्रतिमा का निर्माण कराकर प्रतिष्ठा करवाई। मुस्लिमों के आक्रमण व लूट से बचने के लिए प्रतिमा आदि को थराद नगर के दक्षिण दिशा की बावड़ी में डलवा कर सामान्य प्रतिमा की प्रतिष्ठा करवाई। देवी के पांवों में झांझर होने से झंकार देवी कहलाई।

कैसे पहुंचे ? (How to reach Jhankar Devi temple)

Udaipur to Tharad :  उदयपुर से पालनपुर होते हुए थराद की दुरी लगभग 295 किलोमीटर है।
Barmer to Tharad : बाड़मेर से लगभग 180 किलोमीटर है।
Ahemdabad to Tharad : अहमदाबाद से मेहसाणा – पालनपुर होते हुए थराद पहुंच जा सकता है। अहमदाबाद से इसकी दूरी लगभग 230 किलोमीटर है।

Zamkar Devi /Jhankar Devi Temple Map Tharad

नोट:-   यदि आप झंकार देवी को अपनी कुलदेवी के रूप में पूजते हैं तो कृपया  Comment Box में अपना समाज व गोत्र लिखे।  

Sanjay Sharma
Sanjay Sharma is the founder and author of Mission Kuldevi inspired by his father Dr. Ramkumar Dadhich. Mission Kuldevi is trying to get information of all Kuldevi and Kuldevta of all societies on one platform.

9 thoughts on “झमकार माता / झंकार देवी मंदिर थराद

  1. हम सियाल बोहरा है हम मेवाड़ राजस्थान मे रहते है कृपया हमारी कुल देवी के बारे मे बताने की कृपा करे..। हमारे पुर्वज कहते थे की हमारी कुलदेवी बावडी मे है जो की झमकार माता के इतिहास से मिलता है कृपया जानकारी हो तो बताये……

प्रातिक्रिया दे

Top

This site is protected by wp-copyrightpro.com