You are here
Home > Navratri

देवी सिद्धिदात्री : माँ नवदुर्गा का नवां रूप ; कथा मंत्र व आरती

siddhidratri

सिद्धगन्धर्वयक्षाघरसुरैरमरैरपि  सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी Siddhidatri the Ninth form of Goddess Durga History in Hindi: माँ दुर्गा अपने नौवें स्वरूप में सिद्धिदात्री के नाम से जानी जाती है। ये सभी प्रकार की सिद्धियों को देने वाली हैं। नवरात्र-पूजन के नौवें दिन माँ सिद्धिदात्री की पूजा का विधान है। नवमी के दिन सभी सिद्धियों की…

नवरात्रि विशेष : माँ नवदुर्गा का आठवाँ रूप हैं देवी महागौरी; कथा मंत्र व आरती

maa-mahagauri-wallpaper

श्वेते वृषे समरूढा श्वेताम्बराधरा शुचिः। महागौरी शुभं दद्यान्महादेवप्रमोददा।। Mahagauri the Eighth form of Goddess Durga History, Aarti, Puja Vidhi, in Hindi: माँ दुर्गा जी की आठवीं शक्ति का नाम महागौरी है। दुर्गापूजा के आठवें दिन महागौरी की पूजा अर्चना की जाती है।  महागौरी आदी शक्ति हैं इनके तेज से संपूर्ण विश्व प्रकाश-मान होता है।  इनकी…

नवरात्रि विशेष : माँ नवदुर्गा का सातवाँ रूप हैं देवी कालरात्रि; कथा मंत्र व आरती

Maa Kalratri

एक वेधी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता। लम्बोष्ठी कर्णिकाकणी तैलाभ्यक्तशरीरिणी।। वामपदोल्लसल्लोहलताकण्टक भूषणा। वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयंकरी।। Kalratri the Seventh form of Goddess Durga History, Kavach, Aarti,in Hindi: माँ दुर्गा जी की सातवीं शक्ति कालरात्रि के नाम से जानी जाती है। दुर्गा सप्तशती के प्रधानिक रहस्य में बताया गया है कि जब देवी ने इस सृष्टि का निर्माण शुरू…

नवरात्रि विशेष : माँ नवदुर्गा का छठा रूप हैं देवी कात्यायनी; कथा मंत्र व आरती

maa-katyayani-wallpaper

चन्द्रहासोज्जवलकरा शाईलवरवाहना। कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनी।। Katyayani the Sixth form of Goddess Durga History, Kavach, Aarti, Puja Vidhi, Stotra in Hindi: भगवती दुर्गा के छठें रूप का नाम कात्यायनी है। देवी कात्यायनी महर्षि कात्यायन की कठिन तपस्या से प्रसन्न होकर उनके घर पुत्री के रूप में उत्पन्न हुई थी। आश्विन कृष्ण चतुर्दशी को जन्म लेकर…

नवरात्रि विशेष : माँ नवदुर्गा का पाँचवा रूप हैं देवी स्कन्दमाता; कथा मंत्र व आरती

maa-skandmata

सिंहासनगता नित्यं पद्माश्रितकरद्वया। शुभदास्तु सदा देवी स्कन्दमाता यशस्विनी॥ Skanda Mata the Fifth form of Goddess Durga History, Kavach, Aarti, Puja Vidhi, Stotra in Hindi: भगवती दुर्गा के पाँचवे स्वरुप को स्कन्दमाता के रुप में पूजा जाता है। भगवान स्कन्द अर्थात् कार्तिकेय की माता होने के कारण इन्हें स्कन्द माता कहते हैं। नवरात्रि पूजन के पाँचवे दिन इन्ही माता की…

नवरात्रि विशेष : माँ नवदुर्गा का चौथा रूप हैं देवी कूष्माण्डा; कथा मंत्र व आरती

maa-kushmanda-photo

सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च। दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मे॥ Kushmanda the Fourth form of Goddess Durga History, Kavach, Aarti, Puja Vidhi, Stotra in Hindi: भगवती दुर्गा के चौथे स्वरूप का नाम कूष्माण्डा है। “कुत्सित: कूष्मा कूष्मा-त्रिविधतापयुत: संसार:, स अण्डे मांसपेश्यामुदररूपायां यस्या: सा कूष्मांडा “।  अर्थात वह देवी जिनके  उदर में त्रिविध तापयुक्त संसार स्थित है वह कूष्माण्डा हैं। देवी…

नवरात्रि विशेष : माँ नवदुर्गा का तीसरा रूप हैं देवी चंद्रघण्टा; कथा मंत्र व आरती

maa-chandraghanta-2449

पिण्डजप्रवरारूढ़ा चण्डकोपास्त्रकैर्युता। प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता॥ Chandraghanta the Third form of Goddess Durga History, Kavach, Aarti, Puja Vidhi, Stotra in Hindi: देवी माँ दुर्गाजी की तीसरी शक्ति का नाम चंद्रघंटा है. दुर्गा पूजा के तीसरे दिन आदि-शक्ति दुर्गा के तृतीय स्वरूप माँ  चंद्रघंटा की पूजा होती है।  इनका रूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी है। इनके मस्तक में घंटे…

नवरात्रि विशेष : माँ नवदुर्गा का दूसरा रूप हैं ब्रह्मचारिणी; कथा मंत्र व आरती

goddess-brahmacharini-photo

दधाना करपद्माभ्यामक्षमालाकमण्डलू । देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा ।। Brahmcharini  the Second form of Goddess Durga History, Kavach, Aarti, Puja Vidhi, Stotra in Hindi: नवरात्रि के दूसरे दिन भगवती मां ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना का विधान है। श्रद्धालु भक्त व साधक अनेक प्रकार से भगवती की अनुकम्पा प्राप्त करने के लिए व्रत-अनुष्ठान व साधना करते हैं। कुंडलिनी…

नवरात्रि विशेष: मां नवदुर्गा का पहला रुप हैं शैलपुत्री; कथा, मंत्र व आरती

shailputri-mata-wallpaper

Shailputri the First form of Goddess Durga History, Kavach, Aarti, Puja Vidhi, Stotra in Hindi  : शक्ति स्वरूपा देवी मां दुर्गा के नौ रुपों में पहला रूप है शैल पुत्री। पर्वतराज हिमालय की बेटी होने के कारण इन्हें शैल पुत्री कहा जाता है। शैल पुत्री माँ का वाहन बैल है। मां शैल पुत्री के दाहिने हाथ में त्रिशूल और बाएँ…

नवरात्रि का महत्त्व व इतिहास | Significance & History of Navratri – 9 Day Indian Festival

navratri-garba-in-gujarat1

Significance & History of Navratri in Hindi : नवरात्रि देवी दुर्गा माता को समर्पित एक पवित्र, शुभ व मंगलकारी  हिन्दू पर्व है। नौ दिनों का यह त्यौहार देवी दुर्गा के प्रति भक्ति – आराधना, मनोरंजन से भरपूर डांडिया नृत्य, अलग-अलग तरह के स्वादिष्ट व्यंजनों से परिपूरित है। इन नौ दिनों में भक्त दुर्गा माता के नौ रूपों –…

Top