Khimaj Mata Temple Kathoti, Nagaur खीमज माता मन्दिर, कठौती

Khimaj Mata Kathoti (Nagaur)
Khimaj Mata Kathoti (Nagaur)

Khimaj Mata Temple Kathoti Nagaur : क्षेमजा / खीमज (खींवज) माता का मन्दिर नागौर जिले के कठौती ग्राम में है। कठौती डीडवाना से पश्चिम में 33 किमी. तथा नागौर से पूर्व में 61 किमी. दूर है। माता का मन्दिर एक टीले पर स्थित है। ऐसा माना जाता है कि प्राचीन समय में यहाँ मन्दिर था जो कालान्तर में भूमिगत हो गया। वर्तमान मंदिर में माता की मूर्ति खम्भे (स्तम्भ) के रूप में लगभग सवा सौ साल पहले प्रकट हुई ऐसा माना जाता है। वर्तमान मंदिर में माता की मूर्ति के स्तम्भ’ के रूप से मालुम चलता है कि यह मंदिर सन् 935 वर्ष पूर्व निर्मित हुआ था।  सवा सौ वर्ष पूर्व इस मन्दिर का निर्माण टीला बाबा नामक जाट ने करवाया था। मन्दिर में स्तम्भ पर उत्कीर्ण माता की मूर्ति चतुर्भुजी है। माता के दाहिने हाथो में त्रिशूल व खड्ग है तथा बायें हाथो में कमल व मुग्दर है।

Khinwaj Mata Temple Kathoti (Nagaur)
Khimaj Mata Temple Kathoti (Nagaur)

क्षेमंकरी / खीमज माता का एक प्राचीन मंदिर भीनमाल में स्थित है तथा एक अन्य मन्दिर बसंतगढ़ में भी है जो खीमेल माता के नाम से प्रसिद्ध है।

नोट:-   यदि आप क्षेमंकरी / खीमज माता को अपनी कुलदेवी के रूप में पूजते हैं तो कृपया Comment Box में अपना समाज व गोत्र लिखें। 

प्रिय पाठक! कृपया ध्यान दें –

हिन्दू धर्म में महत्त्वपूर्ण स्थान रखने वाली विभिन्न समाजों की कुलदेवियों के बारे में Research जारी रखने के लिए Mission Kuldevi को आपके Support की आवश्यकता है। आपकी छोटी सी भी सहायता इस रिसर्च को एक कदम आगे बढ़ा सकती है। Support on Paytm or  Phonepe: +91  93142 54243 

-mission kuldevi

54 thoughts on “Khimaj Mata Temple Kathoti, Nagaur खीमज माता मन्दिर, कठौती”

  1. हम कापड़ौदा जोशी पारीक परिवार हैं तथा हमारे यहां खिमज माता की पूजा होती है तथा नवरात्रि में अष्टमी पूजन होता है। यह मंदिर कठोती नागौर में है

    प्रतिक्रिया
  2. Dear All
    My name is mohit and i am from delhi i want to know who is the kuldevi of bothra kul as till date we dont know who is our kuldevi i tried to get info but all i came to know is that my four father from last 200 or 300 years are living in delhi so i really not able to find any information which is our native place and different bothra pray different kuldevi i came to know . so can anybody help me in finding out who is our kuldevi, ill be very highly obliged

    प्रतिक्रिया
  3. धन्यवाद, मै गुर्जर गौड़ ब्राह्मण हूं, मेरा गोत्र वत्स है, उपगोत्र डीडवानिया, उपनाम व्यास, वेद यजुर्वेद और कुलदेवी खैवज माता या खींवाज माता है। मेरी कुलदेवी का मंदिर कहां है यह जानना चाहता हूं। सहायता कीजिए।

    प्रतिक्रिया
  4. में गौड़ ब्राह्मण हू गोत्र भरिंडवाल ह मुझे मेरी कुलदेवी का पता नहीं हा इसलिए मुझे मेरी कुलदेवी के बारे में जानना हँ कृपया मुझे बताये इनके लिए श्री मान का बहुत आभारी रहूँगा धन्येवाद i

    प्रतिक्रिया

Leave a Reply

This site is protected by wp-copyrightpro.com