माँ दधिमथी की आरती | Jai Jai Janak Sunandini Aarti Lyrics

जय जय जनकसुनन्दिनी, हरिवन्दिनी हे। दुष्टनिकन्दिनी मात, जय जय विष्णुप्रिये।। Jai Jai Janak Sunandini, Harivandini Hey. Dushta Nikandini Maat, Jai Jai Vishnu Priye. सकल मनोरथ दोहनी, जगसोहिनी हे। पशुपतिमोहिनी मात, जय जय विष्णुप्रिये।। Sakal Manorath Dohani, Jag Sohini Hey.Pashupati Mohini Maat, Jai Jai Vishnu Priye. विकट निशाचर कुंथिनी, दधिमंथिनी हे। त्रिभुवन ग्रंथिनी मात, जय जय … Read more माँ दधिमथी की आरती | Jai Jai Janak Sunandini Aarti Lyrics

शारदीय नवरात्रि 2020 | मुहूर्त्त, पूजा विधि व महत्त्व

shardiya navratri

Shardiya Navratri 2020: आश्विन माह मनाया जाने वाला शारदीय नवरात्रि का पावन पर्व आज 17 अक्तूबर से शुरू हो रहा है। नौ दिनों तक चलने वाले इस पर्व में शक्तिरूपा मां दुर्गा के नौ रूपों की आराधना होती है, इसलिए इसे शक्ति की उपासना का पर्व भी कहा जाता है। इन नौ दिनों में व्रत रखने का विधान … Read more शारदीय नवरात्रि 2020 | मुहूर्त्त, पूजा विधि व महत्त्व

महर्षि गर्ग जयंती विशेष : महर्षि गर्गाचार्य जी का परिचय, ध्यान, 108 नामावली, पूजा, आरती

     विनोद शर्मा  कृष्णगौड़ ब्राह्मण सेवा समिति, जयपुर  द्वारा प्रेषित आलेख  महर्षि गर्गाचार्य जी का परिचय महर्षि गर्ग अंगिरस गौत्र में उत्पन्न एक परमश्रेष्ठ मंत्र दृष्टा ऋषि है। ऋग्वेद के 6/47 सूक्त के मंत्र रचियता महर्षि गर्गाचार्य जी है। वे महान शिव भक्त रहे है, भगवान शिव ने स्वयं इन्हें अपना परम शिष्य बताया है। … Read more महर्षि गर्ग जयंती विशेष : महर्षि गर्गाचार्य जी का परिचय, ध्यान, 108 नामावली, पूजा, आरती

गर्गवंशी कृष्ण गौड़ ब्राह्मणों की आराध्य देवी विंध्याचल वासिनी की कथा | Vindhyachal Vasini Devi Katha

     विनोद शर्मा  कृष्णगौड़ ब्राह्मण सेवा समिति, जयपुर  द्वारा प्रेषित आलेख  माँ विंध्यवासिनी  भगवती अम्बिका नित्य स्वरूपिणी है। सत, चित और आनंदमय उनका श्री विग्रह है। वे सर्वोपरी है। यह चराचर जगत उनके ओतप्रेत है। उन्ही की आराधना के प्रभाव से ब्रह्माजी इस चराचर जगत की रचना करते है। भगवान विष्णु इस जगत का सरंक्षण … Read more गर्गवंशी कृष्ण गौड़ ब्राह्मणों की आराध्य देवी विंध्याचल वासिनी की कथा | Vindhyachal Vasini Devi Katha

kokila vrat 2020: जानिए इस व्रत का महत्त्व, कथा, पूजा विधि व मुहूर्त

kokila vrat katha

कोकिला व्रत :-         हिन्दू धर्म में अनेक त्योंहार आते हैं। जिनमे से एक है कोकिला व्रत ()। यह व्रत आषाढ़ पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। कोकिला व्रत माँ पार्वती और भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है। यह व्रत ईश्वर के प्रति समर्पण व्यक्त करने का एक उचित साधन है। इस व्रत में … Read more kokila vrat 2020: जानिए इस व्रत का महत्त्व, कथा, पूजा विधि व मुहूर्त

जया पार्वती व्रत का महत्त्व, पूजा विधि, कथा, व मुहूर्त

jaya parvati vrat muhurt

Jaya Parvati Vrat Katha,Puja Vidhi: जया-पार्वती व्रत एक बहुत ही शुभ उपवास है जो कि लगातार पांच दिनों तक चलता है। आषाढ़ शुक्ल त्रयोदशी जो कि हर साल आती है। उस दिन जया पार्वती व्रत को विशेष व्रत के रूप में मनाया जाता है। इस व्रत को विजया-पार्वती व्रत के नाम से भी जाना जाता है। यह व्रत माँ … Read more जया पार्वती व्रत का महत्त्व, पूजा विधि, कथा, व मुहूर्त

योगिनी एकादशी व्रत विधि, कथा, महिमा व मुहूर्त

yogini-ekadashi

Yogini Ekadashi Vrat in Hindi: आषाढ़ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को योगिनी एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस एकादशी का हिन्‍दू धर्म में बड़ा ही महत्‍व है। इस दिन भगवान्  विष्‍णु की पूजा करने का विधान है।  भगवान विष्णु का आशीर्वाद पाने के लिए यह व्रत रखा जाता है। अतिउत्तम योगिनी एकादशी के दिन दान … Read more योगिनी एकादशी व्रत विधि, कथा, महिमा व मुहूर्त

वट पूर्णिमा व्रत विधि, कथा व महिमा | Vat Purnima | Vat Savitri Vrat Katha | Vat Amavasya

vat purnima

हिंदू धर्म में विवाहित स्त्रियां अपने पति की दीर्घायु के लिए कई प्रकार के व्रत रखती हैं, इन्‍हीं में से एक है वट सावित्री व्रत। जिसे वट पूर्णिमा/वट अमावस्या भी कहा जाता है। यह पर्व मिथिला और पश्चिमी भारतीय राज्यों गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा और उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में विवाहित महिलाओं द्वारा मनाया जाता … Read more वट पूर्णिमा व्रत विधि, कथा व महिमा | Vat Purnima | Vat Savitri Vrat Katha | Vat Amavasya

राठौड़ वंश की सभी शाखाओं का इतिहास | Rathore History in Hindi

rathore

राठौड़ वंश का परिचय | Introduction to Rathore Dynasty Rathore History in Hindi: राजपूतों के इतिहास में राठौड़ों का विशेष स्थान है। संस्कृत अभिलेखों, ग्रंथों आदि से राठौड़ों को राष्ट्रकूट लिखा है। कहीं-कहीं रट्ट या राष्ट्रोड भी लिखा है। राठौड़ राष्ट्रकूट का प्राकृत रूप है। चिन्तामणि विनायक वैद्य के अनुसार यह नाम न होकर एक सरकारी … Read more राठौड़ वंश की सभी शाखाओं का इतिहास | Rathore History in Hindi

Akshaya Tritiya Shubh Muhurt Pujan Vidhi Katha

akshaya tritiya banner

Akshaya Tritiya Shubh Muhurt 2020: भारतवर्ष में सभी शुभ कार्य शुभ मुहूर्त में ही किये जाने की परम्परा है। इनमें वर्ष में साढ़े तीन मुहूर्त ऐसे भी आते हैं जो स्वयं सिद्ध शुभ मुहूर्त होते हैं यानि इन मुहूर्त में कोई भी शुभ कार्य बिना किसी दुविधा के सिद्ध किये जा सकते हैं ये साढ़े … Read more Akshaya Tritiya Shubh Muhurt Pujan Vidhi Katha

This site is protected by wp-copyrightpro.com